Showing posts with label PRODUCTS. Show all posts
Showing posts with label PRODUCTS. Show all posts

ICICI BANK Insta Loans against Mutual Funds

ICICI Bank is offering  Insta Loans against Mutual Funds


ICICI Bank has launched a facility that enables retail customers to get loan of up to ₹1 crore instantaneously by pledging their holdings in both debt and equity mutual funds. The fully digital and paperless facility empowers the customers to avail this loan as an overdraft (OD) in a matter of few minutes, without visiting a branch and submitting physical documents.




ICICI Bank has launched ‘Insta Loans against Mutual Funds’ in partnership with ‘Computer Age Management Services’ (CAMS). ‘Insta Loans against Mutual Funds’ is an extension of the Insta LAS, an instant loan facility against equity shares, which the bank had launched over a year ago.
"We are happy to partner with CAMS for this facility to provide complete digital access for loans against mutual funds to our customers. With this facility, customers can leverage their mutual fund holdings to get access to funds instantly." Rajesh Iyer, Head- Wealth, Private Banking and LAS, ICICI Bank said.

“We are delighted that our portal is expanding further to serve mutual fund customers in newer ways. This is an important milestone in our mutual fund service journey," Anuj Kumar, President & CEO, CAMS, said.

Salient features of ‘Insta Loans against Mutual Funds’

1) Instant access to funds: The customers get access to instant liquidity by leveraging their existing mutual fund portfolio, without selling them.

2) Flexibility of mutual funds: The loan can be availed against a wide range of debt and equity schemes of mutual funds serviced by CAMS and approved by the Bank

3) Wide range of loan amount: Minimum loan amount is Rs. 50,000 for both debt and equity schemes of MFs. Maximum loan amount is Rs. 1 crore for debt schemes of MFs and Rs. 20 lakh for equity schemes of MFs

4) Competitive margin: Minimum 20% for debt and 50% for equity MFs

5) Advantage of OD; No fixed EMI: Since the loan is available as an OD, the customers do not have to pay fixed EMI. They only need to pay interest on the limit utilised and for the number of the days it was utilised

6) No foreclosure charges: The customers have the flexibility to repay the principal as and when they choose to, without any foreclosure charges


Here are the steps to avail the loan in a few simple steps as below:

Go to ‘Investment & Insurance’.

 Click on ‘Loan against Mutual Funds’

Check pre-qualified eligibility. And select type of mutual fund.

On re-direction to CAMS portal, select mutual fund scheme and number of units. Confirm request through One-Time Password (OTP) authentication.

Confirm loan amount and commercials of the loan on ICICI Bank internet banking. Complete FATCA. Accept terms and conditions.

Enter OTP received on registered mobile number with the Bank. Instantly the OD account and limit is set up.


APPLY HERE

HDFC Bank’s ZipDrive Instant Auto Loan



HDFC Bank’s ZipDrive Instant Auto Loan


HDFC Bank is Offering ZipDrive Instant Auto Loans to customers across 1,000 cities in India. ZipDrive is HDFC Banks instant auto loan disbursal product for customers with pre-approved offer.
The offering is being extended to Tier 2 and 3 cities in india, The bank has claimed this service to be the fastest online auto loan offering in the country. With ZipDrive offering, bank customers wishing to avail an auto loan need not visit a branch or any other physical touch points.

<imgsrc="zip.jpg" alt=" HDFC Bank’s ZipDrive Instant Auto Loan"/>


HDFC Bank’s ZipDrive Instant Auto Loan gives the customer with a pre-approved loan offer the freedom to avail an auto loan from the safe confines of their homes, through Netbanking or via assistance by our phone banking team of HDFC bank.


How to avail HDFC  ZipDrive Instant Auto Loan -

1) Zero pre-approval documents required for  HDFC Bank’s ZipDrive Instant Auto Loan.

2) Customers can get their loans disbursed from anytime anywhere, as per their convenience, through net banking or by scanning QR code or through phone banking.

3) HDFC Bank  customers are given pre-approved loan offers using the banks proprietary algorithm and analytics for  HDFC Bank’s ZipDrive Instant Auto Loan.

4) HDFC Customers can select car model, dealer, loan amount within eligible limits and tenure online. They can also opt for On-road funding as much as 100 per cent of the value.

5) Post online submission of applications, loan gets disbursed instantly.

सुकन्या समृद्धि योजना

Sukanya Samriddhi Account /  ssa account

सुकन्या समृद्धि खाता भारत सरकार समर्थित बचत योजना है जिसका लक्ष्य बालिकाओं के माता-पिता पर लक्षित है। यह योजना माता-पिता को अपनी महिला बच्चे के लिए भविष्य की शिक्षा और शादी के खर्च के लिए एक कोष बनाने के लिए प्रोत्साहित करती है

इस योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 जनवरी 2015 को बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत की थी। यह योजना वर्तमान में 8.4% (जुलाई-सितंबर 2019 तिमाही के लिए) और कर लाभ प्रदान करती है। यह खाता किसी भी भारत डाकघर या अधिकृत वाणिज्यिक बैंकों की शाखा में खोला जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि खाता नियम, 2016 को 12 दिसंबर 2019 को रद्द कर दिया गया था और नई सुकन्या समृद्धि खाता योजना, 2019 शुरू की गई थी।

<img src="ssa.jpg" alt="Sukanya Samriddhi yojna"/>

इस योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 जनवरी 2015 को हरियाणा के पानीपत में की थी। खाते किसी भी भारत डाकघर या कुछ अधिकृत वाणिज्यिक बैंकों की शाखा में खोले जा सकते हैं। प्रारंभ में, ब्याज दर 9.1% निर्धारित की गई थी लेकिन बाद में वित्त वर्ष 2015-16 के लिए मार्च 2015 के अंत में 9.2% तक संशोधित किया गया था। वित्त वर्ष 2016-17 के लिए ब्याज दर में संशोधन कर 86 फीसद कर दिया गया है।

यह खाता बालिका के जन्म और माता-पिता/अभिभावक द्वारा 10 वर्ष की आयु प्राप्त करने के समय के बीच कभी भी खोला जा सकता है प्रति बच्चे केवल एक खाते की अनुमति है। माता-पिता अपने प्रत्येक बच्चे के लिए अधिकतम दो खाते खोल सकते हैं (जुड़वां और तीन के लिए अपवाद की अनुमति) खाता भारत में कहीं भी स्थानांतरित किया जा सकता है।

शुरुआत में खाते में न्यूनतम ₹250 जमा होना चाहिए। इसके बाद 100 रुपये के मल्टीपल्स में कोई भी राशि जमा की जा सकती है। हालांकि, अधिकतम जमा सीमा ₹ 150,000 है। यदि ₹ 250 का न्यूनतम जमा, (शुरू में जो 1000 था) एक वर्ष में नहीं किया जाता है, तो ₹ 50 का जुर्माना लगाया जाएगा।

लड़की 10 साल की उम्र में पहुंचने के बाद अपना अकाउंट ऑपरेट कर सकती है। यह खाता उच्च शिक्षा उद्देश्यों के लिए 18 की उम्र में 50% निकासी की अनुमति देता है। खाता इसे खोलने की तारीख से 21 साल की समयावधि के बाद परिपक्वता तक पहुंचता है। खाता खुलवाने की तिथि से लेकर 15 साल पूरे होने तक खाते में जमा राशि जमा कराई जा सकती है। इस अवधि के बाद खाते में केवल लागू ब्याज दर अर्जित होगी। यदि खाता बंद नहीं किया गया है, तो यह प्रचलित दर पर ब्याज अर्जित नहीं करेगा। अगर लड़की 18 से ज्यादा और शादीशुदा है तो नॉर्मल क्लोजर की इजाजत है

ब्याज दर (SUKANYA SAMRIDDHI INTEREST RATE)
वर्तमान में सुकन्या समृद्धि खाते पर ब्याज दर 7.6% है। न्यूनतम निवेश राशि 250 रुपये और अधिकतम 150000 रुपये है।

कर लाभ(SUKANYA SAMRIDDHI TAX BENEFIT)
लॉन्च के समय, केवल खाते में जमा आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत कर कटौती के लिए पात्र थे, जो 2015-16 में ₹ 150,000 है। हालांकि, वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 2015 के केंद्रीय बजट के दौरान, खाते से ब्याज पर कर छूट और परिपक्वता के बाद फंड से निकासी पर, सार्वजनिक भविष्य निधि के समान कर लाभ बनाने की घोषणा की। ये परिवर्तन 1 अप्रैल २०१५ से भूतलक्षी प्रभाव से लागू किए गए थे इन फायदों का सालाना पुनर्मूल्यांकन किया जाएगा।

परिपक्वता नियम 2016 (SUKANYA SAMRIDDHI MATURITY RULES)
(1) (1) खाता अपने खुलने की तारीख से इक्कीस वर्ष की अवधि पूरी होने पर परिपक्व होगा: यदि खाताधारक, किसी आवेदन पर, खाताधारक की शादी के कारणों के लिए इस तरह के समय से पहले बंद करने का अनुरोध करता है और आयु प्रमाण प्रस्तुत करता है जिससे यह पुष्टि होती है कि आवेदक शादी की तारीख को अठारह वर्ष से कम आयु का नहीं होगा
बशर्ते कि शादी की तारीख से पहले एक महीने से पहले या ऐसी शादी की तारीख से तीन महीने बाद ऐसा कोई समय से पहले बंद नहीं किया जाएगा

(2) परिपक्वता पर, खाते में बकाया ब्याज सहित शेष राशि खाताधारक को खाते को बंद करने के लिए खाताधारक द्वारा आवेदन पर और उसकी पहचान, निवास और नागरिकता का दस्तावेजी प्रमाण प्रस्तुत करने पर देय होगी

(3) खाता खुलने की तारीख से इक्कीस वर्ष पूरा होने के बाद कोई ब्याज देय नहीं होगा।

खाते का हस्तांतरण(TRANSFER OF SUKANYA SAMRIDDHI ACCOUNT)
(1) खाता भारत में कहीं भी और डाकघरों से या डाकघरों से और बैंकों से और डाकघर और बैंक के बीच, या तो अभिभावक या खाताधारक के निवास के स्थानांतरण के प्रमाण प्रस्तुत करने पर निशुल्क और अन्यथा, डाकघर या बैंक को एक सौ रुपये की फीस का भुगतान करने पर स्थानांतरित किया जा सकता है जिससे स्थानांतरण किया जाता है

(2) यदि डाकघर(POST OFFICE) या संबंधित बैंक को CORE BANKING की सुविधा प्राप्त है तो खाते के हस्तांतरण की प्रक्रिया इलेक्ट्रॉनिक रूप से प्रभावी होगी